सीलिंग से लटका मिला अभिनेत्री का शव, कटी हुई थी कलाई की नस, कमरे से आ रही थी सड़ांध की बदबू

Wednesday, February 8, 2017

Showing of photos  
सीलिंग से लटका मिला अभिनेत्री का शव, कटी हुई थी कलाई की नस, कमरे से आ रही थी सड़ांध की बदबू

कोलकाता: बांग्ला अभिनेत्री बितस्ता सालिनी साहा का शव मंगलवार (आठ फरवरी) को उनके कोलकाता स्थित फ्लैट में छत से लटका हुआ मिला।  पुलिस के अनुसार उनका शव कई दिनों से पड़े रहने के कारण खराब हो चुका है। बितस्ता ने जब दो दिनों तक अपनी माँ का फोन नहीं उठाया तो वो उनसे मिलने पहुंची। जब बितस्ता ने दरवाजा नहीं खोला तो उनकी माँ ने पड़ोसियों और पुलिस को सूचना दी। बितस्ता दक्षिणी कोलकाता के कस्बा इलाके स्थित अपने फ्लैट में अकेले रहती थीं।
समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार जब पुलिस ने दरवाजा तोड़ा तो अभिनेत्री का शव सीलिंग से लटका हुआ मिला। पुलिस के अनुसार बितस्ता के कलाई की नस कटी हुई थी। उनके शरीर पर मारपीट के भी निशान हैं। पुलिस ने एजेंसी को बताया, प्रथम दृष्टया ये आत्महत्या का मामला लगता है लेकिन हम पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं। ऐसा लग रहा है कि शव दो दिनों से ऐसे ही पड़ा हुआ था, कमरे में सड़ांध की बदबू आ रही थी।
पुलिस के अनुसार बितस्ता कुछ समय से तनाव में थीं। पुलिस ने एजेंसी को बताया कि उन्होंने बितस्ता के फेसबुक प्रोफाइल का मुआयना किया तो पाया कि उन्होंने कई अवसाद भरे पोस्ट किए थे। पुलिस के अनुसार बितस्ता ने एक पोस्ट में जान देने तक की बात लिखी थी। पुलिस बितस्ता के फोन रिकॉर्ड की भी जांच कर रही है। लेकिन अभी तक उनकी मौत के पीछे के कारणों को लेकर किसी अंतिम नतीजे पर नहीं पहुंची है।
बितस्ता ने अपने फेसबुक पर आखिरी पोस्ट 24 जनवरी को पोस्ट की थी। पोस्ट में उन्होंने अपनी किसी महिला साथी के साथ अपनी तस्वीर डाली थी। बितस्ता ने दिसंबर के आखिर में फेसबुक पर ऐसी कई पोस्ट डाली थीं जिनसे उनके अवसाद में होने का संकेत मिलता है। 21 दिसंबर को बितस्ता ने अंग्रेजी में लिखी एक पोस्ट में कहा था, तुम मेरा दर्द कभी नहीं समझोगे। 20 दिसंबर को बितस्ता ने बांग्ला में पोस्ट किया था, दुख मिले या आराम, तुम्हें इससे क्या

नौ दिसंबर को बितस्ता ने कई पोस्ट की थीं जिनमें उनके तनाव से गुजरने के संकेत मिलते हैं। नौ दिसंबर को उन्होंने पोस्ट किया, मर जाते तो बेहतर होता, खुशी मुझसे क्यों रूठ गई नौ दिसंबर को ही उन्होंने एक अन्य पोस्ट में लिखा, मेरा क्या अपराध था.अगर पढ़ सको तो मेरे दिल की बात पढ़ लो बितस्ता ने ये पोस्ट बांग्ला (रोमन लिपि) में लिखे थे।